Essay On Independence Day In Hindi | स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

1
285

Essay On Independence Day In Hindi : 15 अगस्त 1947 को हमारा देश भारत अंग्रेजों के गुलामी और शासन से आजाद हुआ था। यह दिन भारत के इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों से लिखा गया है। स्वतंत्रता का अर्थ होता है, स्वयं को दूसरों के अधीनता से आजाद करना।

Independence-Day-Essay-In-Hindi-स्वतंत्रता-दिवस-पर-निबंध.
Essay On Independence Day In Hindi | स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

यह दिन हर एक भारतवासी के लिए गौरव का दिन होता है। इस दिन लोग गौरवान्वित होने के साथ-साथ उन शहीदों को याद किए बिना नहीं रहते जिन्होंने अपने देश भारत को अंग्रेजों के शासन से मुक्त कराने के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी।

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के दिन चारों तरफ उत्तर से लेकर दक्षिण तथा पूर्व से लेकर पश्चिम पूरे भारत के लोग आजादी की खुशियाँ मनाते हैं। लोग इस दिन मधुर गीतों पर थिरकते हैं तथा देश भक्ति गीत सुनते हैं और सुनाते हैं। स्वतंत्रता दिवस के पूर्व संध्या पर देश के राष्ट्रपति देश के नाम संबोधन देते हैं। ये भी पढ़ें : मेरा विद्यालय पर निबंध – Essay On My School

Essay On Independence Day In Hindi

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) भारत के मुख्य राष्ट्रीय त्योहारों में से एक है। स्वतंत्रता दिवस के दिन प्रत्येक वर्ष भारत के प्रधानमंत्री लाल किले के प्राचीर पर झंडा फहराते हैं और देश के नाम संबोधन देते हैं। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने दिल्ली के लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर भारत का राष्ट्रीय झंडा तिरंगा फहराया था। पंडित जवाहरलाल नेहरू ने मध्य रात्रि को “ट्रस्ट विस्ट डेस्टिनी” पर भाषण दिया था। भारत 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों के लगभग 200 वर्षों के शासन के बाद मुक्त हुआ था। इसलिए प्रत्येक साल इस दिन ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। पूरे विश्व में भारतीय लोकतंत्र सबसे बड़ा लोकतंत्र है।

15 अगस्त 2022 को भारत 76वीं वर्षगाँठ मनाने जा रहा है। हमारे देश को अंग्रेजी शासन से मुक्त हुए 76 वर्ष हो गए हैं। स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष में सरकारी तथा गैर सरकारी स्तर पर कई बड़े कार्यक्रमों का आयोजन होता है। इस दिन राष्ट्रीय झंडा तिरंगा को 21 तोपों की सलामी दी जाती है। यह देख कर सभी भारतवासी का चेहरा भाव-विभोर तथा खुशी से झूम उठता है। स्वतंत्रता दिवस के दिन समारोह में भारत देश के तरफ से विदेशी मेहमानों को भी आमंत्रित किया जाता है। भारतीय स्वतंत्रता दिवस का भव्य समारोह देखकर विदेशी मेहमान भी आनंदित हो उठते हैं।

स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाता है | How To Celebrate Indepedence Day Of India

स्वतंत्रता दिवस के दिन देश के प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा झंडा फहराते हैं। इस दिन राष्ट्रीय झंडा तिरंगा को 21 तोपों की सलामी दी जाती है।स्वतंत्रता दिवस के दिन राष्ट्रीय अवकाश के साथ-साथ स्कूलों और महाविद्यालयों में झंडा फहराया जाता है। इस दिन स्कूल, कॉलेज, दफ्तर, कार्यालयों में राष्ट्रगान जन-गण-मन गाया जाता है और झंडा फहराया जाता है। इस दिन कई रंगारंग कार्यक्रम तथा भाषण का आयोजन किया जाता है और मिठाइयाँ बाँटकर खुशियाँ मनाई जाती है। इस दिन भारतवासी पतंग उड़ा कर भी खुशी इजहार करते हैं।

भारतीय स्वतंत्रता दिवस का इतिहास | History Of Indepedence Day Of India

स्वतंत्रता दिवस के दिन हर भारतवासी देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा अनेक सच्चे सपूतों और वीरों जैसे- भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु, रानी लक्ष्मीबाई, सुभाष चंद्र बोस आदि अनेक स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानी को याद करते हैं और अपने अंदर देश के प्रति सच्चे कर्तव्यों की ज्वाला को धूमिल नहीं होने देते। ये भी पढ़ें : मेरी माँ निबंध पर दस पंक्तियाँ | Ten Lines Essay On My Mother

“स्वराज हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है” का नारा देश के नायक कहे जाने वाले बाल गंगाधर तिलक ने दिया था। जो हमारे देश और देश के युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत बना था। जिस से वशीभूत होकर हमारे देश के नागरिक स्वतंत्रता को पाने के लिए अंग्रेजों से मुकाबला करने को दृढ़ हो गए। आजादी को पाने के  लिए हमारे देश में बड़ी बड़ी कुर्बानियाँ दी हैं।

इस आजादी की गरिमा को बनाए रखना अब सभी देशवासी का देश के प्रति सबसे बड़ा कर्तव्य बनता है। हमें ऐसा कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए जिससे देश की आन-बान-शान में कमी आए। बल्कि हमारे अच्छे और नेक कार्यों से हमारे देश का झंडा सबसे ऊंचा लहराता रहे। स्वतंत्रता पाने के लिए देश के हर धर्म, संस्कृति, भाषा, समुदाय, स्त्री और पुरुष ने अपना-अपना भागीदारी निभाया था। ये भी पढ़ें : रक्षाबंधन पर निबंध | ESSAY ON RAKSHABANDHAN IN HINDI

भारत देश के पुरुष ही नहीं स्त्रियाँ भी आजादी को पाने के लिए अपना देश के प्रति कर्तव्य निभाया था। कई महिलाओं ने अपना बलिदान भी दिया था जिसमें झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का नाम देश के हर बच्चे की जुबान पर विद्यमान है। सरोजिनी नायडू, कस्तूरबा गांधी, विजय लक्ष्मी पंडित आदि देश की बेटियों ने भी स्वतंत्रता दिलाने में पीछे नहीं हटीं और स्वतंत्रता पाने के लिए संघर्ष करती रहीं।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व | Importance Of Independence Day

भारत विश्व को विविधता में एकता का संदेश देता है। यहां विभिन्न धर्म, समुदाय और भाषा के लोग रहते हैं। भारत अपनी विभिन्नता में एकता का प्रदर्शन कर विश्व को एक अलग ही संदेश देता है। भारत अपने अहिंसा और सादगी के लिए भी विश्व में पहचान बनाता है। मगर आवश्यकता पड़े तो भारत कठोर निर्णय लेने में भी पीछे नहीं हटता। ये भी पढ़ें : गाय पर निबंध | Essay on Cow

हमारे देश के युवा पीढ़ी हैं, देश का भविष्य हैं। जिनमें सोचने समझने की असीम शक्ति है। अतः हमें स्वतंत्रता दिवस के महत्व को समझ कर हम देश की सेवा करने के लिए सदा अग्रसर रहें। अपने देश को पराकाष्ठा की ऊंचाई तक पहुंचाने के लिए अपने कर्तव्य को सदा याद रखें। इसलिए प्रत्येक वर्ष स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं और देश को बेहतर बनाने का संकल्प लेते हैं।

जिन संकल्पों को देश के वीरों ने अपना बलिदान देकर पूरा किया और जिनके बलिदान के कारण ही आज हर भारतवासी स्वतंत्र भारत में आजादी की सांस ले रहे हैं। स्वतंत्रता दिवस के जरिए हम भारत के हर बच्चों को भी अपने देश के इतिहास से अवगत कराते हैं और बचपन से ही उनके अंदर भी देशभक्ति की भावना भरते हैं। जो आगे चलकर अपने देश का नाम रौशन करते हैं।

जय हिन्द, जय भारत

Independence Day Quotes in Hindi

भारत माता तेरी सदा जयकारा रहे,
सारे संसार में तेरी बोलबाला रहे,
सदा रहो तुम आबाद तेरी हर संतान खुशहाल रहे,
है यही इच्छा सदा जय हिंद रहे तेरी सदा जयकारा रहे।।

कैद के हजार सुखों से अच्छी है वह आजादी,
जो धरती माँ के गोद में सोते हैं,
और खाते हैं सूखी रोटी।।

आजादी है वह चिड़िया,
जिस को पकड़ना चाहे सारी दुनिया।
मिल जाएँ तो पा जाएँ हर खुशियाँ,
बिना इसके व्यर्थ है पूरी जिंदगानियाँ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here