भारत के राष्ट्रीय प्रतीक | National Symbols Of India In Hindi

National Symbols of India with Name and its Significance (भारत के राष्ट्रीय प्रतीक):

0
222

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक (National Symbols Of India In Hindi): राष्ट्रीय प्रतीक देश की अपनी पहचान और उस पर गर्व करने की बात होती है। भारत के राष्ट्रीय प्रतीक भारत की पहचान और उसकी संस्कृति का अहम हिस्सा है। राष्ट्रीय प्रतीक, हमें उस देश का इतिहास और उसकी विशिष्टता तथा विचारधारा को दर्शाता है।

आज यहां इस लेख में आप सभी को भारत के 23 राष्ट्रीय प्रतीक तथा उन सभी प्रतीक की अपनी पहचान और उनका विशेष अर्थ भी बताया जा रहा है। इस लेख के माध्यम से हम उन सभी प्रतीक के बारे में जानेंगे और समझेंगे। जिसकी जानकारी होना, हर भारतवासी के लिए आवश्यक है। उनकी जानकारी हमें राष्ट्रीय प्रतीक के प्रति जागरूक करती है।

National Symbols Of India In Hindi
National Symbols Of India In Hindi

भारत के 23 राष्ट्रीय प्रतीक | National Symbols Of India In Hindi

शीर्षकराष्ट्रीय प्रतीक
राष्ट्रीय ध्वजतिरंगा
राष्ट्रगानजन गण मन
राष्ट्रीय पितामहात्मा गांधी
राष्ट्रीय पंचांग या कैलेंडरशक् संवत
राष्ट्रीय गीतवंदे मातरम्
राष्ट्रीय दिवसस्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, गांधी जयंती
राष्ट्रीय चिन्हअशोक स्तम्भ
राष्ट्रीय फलआम
राष्ट्रीय नदीगंगा
राष्ट्रीय भाषा या राजभाषाहिंदी
राष्ट्रीय पशुबाघ (बंगाल टाइगर)
राष्ट्रीय वृक्षबरगद का पेड़
राष्ट्रीय सब्जीकद्दू
राष्ट्रीय मुद्रारुपया
राष्ट्रीय पक्षीमोर
राष्ट्रीय फूलकमल
राष्ट्रीय सरीसृपकिंग कोबरा
राष्ट्रीय धरोहर पशु भारतीय हाथी
राष्ट्रीय जलचरडॉल्फिन
सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कारभारत रत्न
राष्ट्रीय लिपि देवनागरी लिपि
राष्ट्रीय प्रतिज्ञानिष्ठा की शपथ
राष्ट्रीय नारासत्यमेव जयते

राष्ट्रीय ध्वज – तिरंगा | National Flag of India

National-flag-of-India
National flag of India

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तीन रंगों के समान अनुपात में मिलने से बना है। तीनों रंगों की पट्टियाँ क्षैतिज होती है। सबसे ऊपर केसरिया रंग होता है। बीच में सफेद रंग है। सबसे नीचे हरा रंग है। सफेद रंग की पट्टी में नीले रंग का चक्र है। इस चक्र में 24 तिलियाँ है। यह चक्र सारनाथ में स्थित अशोक स्तंभ से लिया गया है। 22 जुलाई 1947 को भारतीय संविधान सभा ने तिरंगे को राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनाया था। ध्वज की लंबाई और चौड़ाई का अनुपात तीन अनुपात दो (3:2) है।

तिरंगे में केसरिया रंग त्याग और बलिदान का प्रतीक है। सफेद रंग सत्य और पवित्रता का प्रतीक है। हरा रंग देश की समृद्धि और हरियाली का सूचक है। बीच में स्थित चक्र 24 घंटे समय का प्रतीक है।

राष्ट्रीय चिन्ह – अशोक स्तंभ | National Emblem of India

National Emblem of India

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ सम्राट अशोक द्वारा बनवाए गए स्तंभ से लिया गया है। इसलिए इसे अशोक स्तंभ नाम दिया गया है। जब भारत देश गणराज्य बना तब अशोक स्तंभ को राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में अपनाया गया। इसे 26 जनवरी 1950 को अपनाया गया है। अशोक स्तंभ में चार शेर की प्रतिमा है। तीन सामने से दिखाई पड़ते हैं। परंतु एक शेर पीछे रहता है। चारों शेरों की स्थिति खड़ी मुद्रा में है। यह चारों शेर एशियाई मूल के हैं। अशोक स्तंभ के द्वारा सम्राट अशोक ने भगवान बुद्ध के शांति के संदेश पूरी दुनिया में फैलाया था। इस स्तंभ के शेर शक्ति, साहस, गौरव को दर्शाते है।

इस स्तंभ को उल्टे कमल पर स्थापित किया गया है। इस स्तंभ के नीचे एक घोड़ा और एक बैल है। इसके बीच में धर्म चक्र है। अशोक स्तंभ के शिखर पर “सत्यमेव जयते” लिखा है। जो “देवनागरी लिपि” में लिखा है। शब्द सत्यमेव जयते “मुंडकोपनिषद” से लिए गए हैं। जिसका अर्थ होता है “केवल सच्चाई की जीत होती है”

राष्ट्रीय गान – जन गण मन

भारत का राष्ट्रीय गान जन-गण-मन है। जिसे भारत ने 24 जनवरी 1950 को आधिकारिक रूप से अंगीकृत किया था। पूरे गीत को गाने में 52 सेकंड का समय लगता है। इस राष्ट्रीय गीत को सावधान की मुद्रा में गाते हैं। इस राष्ट्रगान को “रविंद्र नाथ टैगोर” ने लिखे थे। इसे पहली बार 27 दिसंबर 1911 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोलकाता सत्र में गाया गया था। मूल रूप से यह “बांग्ला” भाषा में लिखा गया था।

जन गण मन अधिनायक जय हे
भारत भाग्य विधाता!
पंजाब सिन्धु गुजरात मराठा द्राविड़ उत्कल बंग
विन्ध्य हिमाचल यमुना गंगा उच्छल जलधि तरंग
तव शुभ नामे जागे, तव शुभ आशिष माँगे,
गाहे तव जय गाथा।
जन गण मंगलदायक जय हे, भारत भाग्य विधाता!
जय हे, जय हे, जय हे,
जय जय जय जय हे।।

राष्ट्रीय गीत – वंदे मातरम्

वंदे मातरम् गीत को 1950 में आधिकारिक रूप से अंगीकार किया गया था। वंदे मातरम् गीत “बंकिम चंद्र चटर्जी” द्वारा संस्कृत में रचा गया है। इस गीत को पहली बार 1896 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सत्र में गया गया था। इस गीत को गाने का उद्देश्य स्वतंत्रता की लड़ाई में लोगों के अंदर जोश को भरना था। लोगों में नई ऊर्जा का संचार करना था।

वन्दे मातरम्
सुजलां सुफलाम्
मलयजशीतलाम्
शस्यश्यामलाम्
मातरम्।
शुभ्रज्योत्स्नापुलकितयामिनीम्
फुल्लकुसुमितद्रुमदलशोभिनीम्
सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीम्
सुखदां वरदां मातरम्
वन्दे मातरम्।।

सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार – भारत रत्न

भारत रत्न भारत का सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार अथवा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। भारत रत्न भारत के उत्तम नागरिक को प्रदान किया जाता है। जो अपने उत्कृष्ट कामों से देश का भला करते हैं तथा अपने देश का नाम संसार में रोशन करते हैं। इस राष्ट्रीय पुरस्कार को कला, साहित्य, खेल, विज्ञान और सार्वजनिक सेवा तथा समाज के उत्थान में दिया जाता है। इस पुरस्कार का शुभारंभ भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद द्वारा 2 जनवरी 1954 को की गई थी।

राष्ट्रीय पशु – बाघ (बंगाल टाइगर) | National Animal of India

National-Animal-of-India
National Animal of India

भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ है। बाघ में अपार शक्ति और फुर्तीलापन होता है। बाघ के शरीर पर काली और पीली धारीदार पट्टियाँ होती हैं। इसका एनिमल साइंटिफिक नेम पैंथरा टीग्रिस (Panthera tigris)। भारत के राष्ट्रीय पशु के रूप में 1973 में इसे घोषित किया गया था।

राष्ट्रीय पक्षी – मोर | National bird of India

National-bird-of-India
National bird of India

भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है। मोर का वैज्ञानिक नाम पावो क्रिस्टेटस (Pavo cristatus) है। मोर बहुत ही आकर्षक और सुंदर पक्षी होता है। हिंदू धर्म में इसे भगवान मुरुगन (कार्तिक) का वाहन माना जाता है। यह एक संरक्षित वन्य प्राणी है।

राष्ट्रीय जलचर – डॉल्फिन | National aquatic animal of India

National-aquatic-animal-of-India
National aquatic animal of India

डॉल्फिन गंगा नदी में पाई जाती है। डॉल्फिन को राष्ट्रीय जलचर पशु के रूप में अंगीकृत किया गया है। यह शुद्ध और साफ पानी का प्राणी है। क्योंकि यह जलचर साफ पानी में ही सुरक्षित रह सकता है।

राष्ट्रीय फूल – कमल | National flower of India

National-flower-of-India
National flower of India

भारत का राष्ट्रीय फूल कमल है। कमल का बोटैनिकल नाम नेलुमबो नुसीफेरा (Nelumbo nucifera) है। यह फूल हमारे प्राचीन संस्कृति और आस्था का प्रतीक है। इस फूल को शुभ मांगलिक कार्यों में उपयोग किया जाता है। यह फूल ज्ञान, समृद्धि, सुंदरता को भी प्रदर्शित करता है।

राष्ट्रीय फल – आम | National fruit of India

National-fruit-of-India
National fruit of India

भारत का राष्ट्रीय फल आम है। आम का वैज्ञानिक नाम मैंगिफेरा इंडिका (Mangifera indica) है। यह सभी फलों का राजा है। यह सभी उम्र के लोगों का लोकप्रिय फल है। यह ग्रीष्मकालीन फल है। इसे बच्चे, बूढ़े सभी बहुत ही खास तौर पर पसंद करते हैं। इसका स्वाद बहुत ही लाजवाब होता है। कच्चे आम का उपयोग अचार बनाने तथा मिठाई बनाने में भी किया जाता है। भारत में इसकी बहुत सारी प्रजातियाँ पाई जाती है।

राष्ट्रीय खेल – हॉकी

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है। भारतीय खिलाड़ियों ने इस खेल में बहुत गौरव कमाया है। सन् 1928 से 1956 तक भारत ने ओलंपिक खेलों में लगातार 6 स्वर्ण पदक जीते। इसलिए हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल माना गया है। इसका पुराना नाम “होकी” है।

नोट- आप अब तक पढ़ते आ रहे होंगे कि भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है, लेकिन हम आपको बता दें कि भारत के राष्ट्रीय खेल के रूप में कोई भी खेल नामित नहीं है।

राष्ट्रीय वृक्ष – वट वृक्ष या बरगद का पेड़ | National tree of India

National-tree-of-India
National tree of India

भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद का पेड़ है। यह दृढ़ता, एकता और मजबूती का प्रतीक है। इस वृक्ष की आयु और मजबूती बहुत अधिक होती है। बरगद के पेड़ का हिंदू धर्म में बहुत अधिक महत्व होता है। इस वृक्ष की हिंदू धर्म में पूजा की जाती है। बरगद का वैज्ञानिक नाम फिकस बेंघलेन्सिस (Ficus benghalensis) है। यह एक विशाल वृक्ष होता है।

राष्ट्रीय मुद्रा – रुपया | National currency of India

National-currency-of-India
National currency of India

भारतीय रुपया को आर (₹) से चिन्हित किया जाता है। 15 जुलाई 2010 में भारत सरकार द्वारा इसको जारी किया गया था। यह चिन्ह भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मुंबई के पोस्ट ग्रेजुएट डिजाइनर श्री डी उदय कुमार ने बनाया है। यह चिन्ह देवनागरी के व्यंजन र और लैट्रिन के R से मिलकर बना ₹ है। शब्द रुपया संस्कृत शब्द “रुप्यकम” से लिया गया है। जिसका अर्थ होता है “चांदी का सिक्का”।

राष्ट्रीय नदी – गंगा नदी

गंगा भारत की राष्ट्रीय नदी है। गंगा नदी का स्थान भारतीय लोगों में सर्वोपरि है। गंगा भारत की सबसे पवित्र नदी है। इसका जल स्वच्छ और निर्मल है। गंगा नदी का जल भारतीय संस्कृति और धार्मिक अनुष्ठानों में प्रयोग करना अहम माना गया है। गंगा भारत की सबसे लंबी नदी है। यह हिमालय से निकलती है तथा बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है। गंगा नदी की संरक्षण और स्वच्छता का उत्तरदायित्व भारत सरकार के साथ-साथ भारत के लोगों पर समान रूप से है।

राष्ट्रीय पिता – महात्मा गांधी

भारत के राष्ट्रीय पिता का नाम मोहनदास करमचंद गांधी है। अंग्रेजों से भारत को आजाद करने में उनकी भूमिका अहम थी। उन्होंने अहिंसा के मार्ग पर चलकर भारत को आजादी दिलवाई। उन्होंने पूरे विश्व को अहिंसा का पाठ पढ़ाया। वे हमारे देश के गौरव का प्रतीक है।

राष्ट्रीय कैलेंडर – शक् संवत

भारत का राष्ट्रीय कैलेंडर शक् संवत कैलेंडर है। यह देश के इतिहास के साथ-साथ भारत एक सोने की चिड़िया थी, इसका भी एहसास कराता है। यह 22 मार्च 1957 को आधिकारिक रूप से अपनाया गया था। इस कैलेंडर के अनुसार 12 महीने होते हैं। प्रत्येक महीने में दो पक्ष होते हैं। एक पक्ष 15 दिन का होता है। इस कैलेंडर में सार्वजनिक तथा धार्मिक त्योहारों की छुट्टियां भी दर्शाई जाती है। भारतीय समय, मानक तथा सामान्य जानकारी के लिए यह कैलेंडर लोगों के जीवन में अपना अलग स्थान रखता है।

राष्ट्रीय सब्जी – कद्दू (Pumpkin)

भारत के राष्ट्रीय सब्जी कद्दू है। स्थान-स्थान पर इसका नाम अलग-अलग है। जैसे- उत्तर भारत मे सीताफल, कोहड़ा तमिल में पोसानिकाई, मलयालम में कुबलंगा है। इसे उपजाना बहुत ही आसान है। कम संसाधनों में भी इसकी उपज अधिक होती है। भारतीय त्योहारो तथा समारोहों में इसकी सब्जी बनाने का प्रचलन है। कद्दू की सब्जी के साथ-साथ मिठाई भी बनाई जाती है। इसका उत्पादन बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल में प्रमुख रूप से होता है।

ये भी पढ़ें-

हमें फेसबुक पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here