Maternity Leave Application In Hindi | मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र

Maternity Leave Application: मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र

0
245

Maternity Leave Application In Hindi (मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र): मातृत्व अवकाश का मतलब होता है माँ बनने के दौरान और माँ बनने के बाद कार्यस्थल से प्रदान की गई छुट्टी। मातृत्व अवकाश लेना एक कामकाजी महिला के लिए बेहद आवश्यक होता है। इसके लिए भारत सरकार ने गर्भवती कामकाजी महिलाओं के लिए यह सुविधा प्रदान की है। यह सुविधा इसलिए दी गई है ताकि गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था तथा प्रसव संबंधी कोई समस्या या तकलीफ उत्पन्न नहीं हो। साथ-ही-साथ माँ और नवजात बच्चे की देखभाल सही तरीके से हो सके।

मातृत्व अवकाश का लाभ सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं दोनों स्थानों पर कार्य करने वाली महिलाओं को प्रदान की गई है। इस अवकाश को लेने के लिए सरकार द्वारा नियम निर्धारित किए गए हैं। जिनका पालन कर गर्भवती महिलाएं इसका लाभ उठा सकती हैं।

इस लेख को लिखने का मेरी यह मकसद है कि बहुत ऐसी महिलाएं हैं जिनको यह जानकारी अपूर्ण रूप से या अधूरी जानकारी है। इस लेख को पढ़कर वे अपना मातृत्व अवकाश का सही तरीके से लाभ उठा सके।

मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र | Maternity Leave Application In Hindi

Maternity Leave Application In Hindi
Maternity Leave Application In Hindi

Maternity Leave Application For Teachers | शिक्षकों के लिए मातृत्व अवकाश आवेदन

सेवा में,
श्रीमान प्रधानाचार्य,
आनंद पब्लिक स्कूल,
वजीराबाद गाँव,
नई दिल्ली

विषय – मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय,

सविनय निवेदन है कि मैं साधना महतो (अपना नाम लिखें) आपके विद्यालय में एक शिक्षिका के पद पर कार्यरत हूँ। आपको इस पत्र के माध्यम से यह सूचित करना चाहती हूँ कि मैं पिछले 8 महीने से गर्भवती हूँ। मुझे डॉक्टर ने घर पर आराम करने के लिए सलाह दी है। जिससे मेरा स्वास्थ्य तथा प्रसव संबंधी कोई समस्या उत्पन्न ना हो। इसके लिए मुझे मातृत्व अवकाश की बहुत आवश्यकता है।

मेरी मातृत्व अवकाश दिनांक dd/mm/yyyy से dd/mm/yyyy तक चलेगी। इस अवकाश के बाद मुझे कार्यस्थल पर लौटने की योजना है। पत्र के साथ इस बात की पुष्टि करने के लिए मेरे डॉक्टर द्वारा दी गई स्वास्थ्य पर्ची (प्रिसक्रिप्शन) संलग्न है। अतः आपसे अनुरोध है कि मुझे 26 सप्ताह का अवकाश प्रदान करने की कृपा करें। इसके लिए मैं आपकी सदा आभारी रहूँगी।

धन्यवाद
भवदीय
नाम – साधना महतो
पद – शिक्षिका
पता – सिवल लाइंस, दिल्ली
दिनांक dd/mm/yyyy
हस्ताक्षर

Maternity Leave Rules In India | मातृत्व अवकाश के नियम

मेटरनिटी बेनिफिट एक्ट सन 2017 संशोधित मुख्य नियम

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा पारित इस नियम में नवजात बच्चे को 6 महीने तक माँ का दूध अनिवार्य है। जिससे बच्चे का जीवन सुरक्षित रह सकें। इसके लिए महिला कर्मचारी को अवकाश का प्रावधान किया गया है।
  • अवकाश के दौरान महिला कर्मचारी को पूरा वेतन पाने का अधिकार दिया गया है।
  • यह कानून सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं में समान रूप से लागू किया गया है।
  • मातृत्व लाभ अधिनियम के तहत इसकी अवधि 26 सप्ताह है।
  • यह नियम 3 महीने से कम उम्र के बच्चे को गोद लेने वाले कामकाजी माँ तथा सरोगेट माँ को भी 12 हफ्तों की अवकाश दी गई है।
  • कार्यस्थल पर सीढ़ियां चढ़ने या ऐसा कोई काम जो महिला के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो ऐसे काम को करने से महिला मना कर सकती है।
  • गर्भवती महिला को छुट्टी ना देने पर जुर्माना देने का प्रावधान है।
  • यह कानून महिला कर्मचारियों को रोजगार के प्रति आश्वस्त तथा उन्हें मैटरनिटी लाभ का अधिकारी बनाता है। जिससे महिला खुद की तथा अपने बच्चे की सही से देखभाल कर सकें।
  • किसी महिला को छुट्टी के दौरान काम से निष्कासित कर देने पर 10 महीने जेल की सजा का भी प्रावधान है।

ये पत्र भी पढ़ें-

हमें फेसबुक पर फॉलो करें।

FAQ: मातृत्व अवकाश हेतु आवेदन पत्र

मैटरनिटी लीव कैसे लिखे?

महोदय, सविनय निवेदन है कि मैं साधना महतो (अपना नाम लिखें) आपके विद्यालय में एक शिक्षिका के पद पर कार्यरत हूँ। आपको इस पत्र के माध्यम से यह सूचित करना चाहती हूँ कि मैं पिछले 8 महीने से गर्भवती हूँ। मुझे डॉक्टर ने घर पर आराम करने के लिए सलाह दी है। जिससे मेरा स्वास्थ्य तथा प्रसव संबंधी कोई समस्या उत्पन्न ना हो। इसके लिए मुझे मातृत्व अवकाश की बहुत आवश्यकता है।

मैटरनिटी लीव कितने दिन की होती है?

मातृत्व लाभ अधिनियम के तहत इसकी अवधि 26 सप्ताह है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here