Draupadi Murmu Biography in Hindi | द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय [जीवनी, जाति, उम्र, पति, सैलरी, बेटी, बेटा, शिक्षा, राष्ट्रपति, जन्म तारीख, परिवार, पेशा, धर्म, पार्टी, करियर, राजनीति, अवार्ड्स, इंटरव्यू]

0
268

Draupadi Murmu Biography in Hindi [caste, age, husband, income, daughter, president, sons, qualification, date of birth, family, profession, political party, religion, education, career, politics career, awards, interview, speech] द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय [जीवनी, जाति, उम्र, पति, सैलरी, बेटी, बेटा, शिक्षा, राष्ट्रपति, जन्म तारीख, परिवार, पेशा, धर्म, पार्टी, करियर, राजनीति, अवार्ड्स, इंटरव्यू]

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय (Draupadi Murmu Biography in Hindi): द्रौपदी मुर्मू 25 जुलाई 2022 को देश के नाम शपथ लेकर भारत के 15वीं राष्ट्रपति बन चुकी हैं। वह भारत की दूसरी महिला राष्ट्रपति नियुक्त की गई हैं। पहली महिला राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी पाटिल थीं। द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति नियुक्त की गई हैं।

उन्होंने 676803 वोट से अपनी जीत हासिल की है। द्रौपदी मुर्मू विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को एक बड़े अंतर से हराया है। जिसके कारण उनके बारे में भारत के लोगों में जानने की इच्छा जागृत हो गई है। मेरा यह पोस्ट उन्हीं के संदर्भ में जानकारी देना है।

Draupadi Murmu Biography in Hindi
Draupadi Murmu Biography in Hindi

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय [Draupadi Murmu Biography in Hindi]

नामद्रौपदी मुर्मू
पतिश्याम चरण मुर्मू
पिताजी का नामबिरंचि नारायण टुडु
शिक्षाकला स्नातक
कॉलेजरमा देवी महिला कॉलेज,भुवनेश्वर, उड़ीसा
नागरिकताभारतीय
पेशा राजनीतिज्ञ
पार्टीभारतीय जनता पार्टी
जन्म तिथि 20 जून 1958
आयु64 वर्ष
जन्म स्थानबैदापोसी गांव, मयूरभंज, उड़ीसा, भारत
जाति संथाल, अनुसूचित जनजाति
धर्महिंदू
बेटी का नाम इतिश्री मुर्मू
भारतीय जनता पार्टी से जुड़ी 1997

द्रौपदी मुर्मू झारखंड के पूर्व गवर्नर रह चुकी हैं। वे झारखंड राज्य की पहली ऐसी राज्यपाल थी जिन्होंने झारखंड राज्य का गठन (वर्ष 2000) के बाद 5 वर्षों का अपना कार्यकाल बिना किसी विवाद का पूरा किया है। उन्होंने एक वर्ष की अतिकरिक्त सेवा भी प्रदान की हैं। उनका राज्यपाल पद पर कार्यकाल 19 मई 2015 से 2021 तक था।

एनडीए के तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार घोषित होने के बाद द्रौपदी मुर्मू ने कहा- “मैं आश्चर्यचकित हूँ और मुझे विश्वास नहीं हो रहा है। मैं आप सभी का आभारी हूं और ज्यादा बोलने की इच्छा नहीं है। संविधान में राष्ट्रपति की जो भी शक्तियां है, मैं उसके अनुसार काम करूंगी”

राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम की घोषणा के बाद द्रौपदी मुर्मू ने शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की तथा नंदी महाराज के कानों में अपनी मन्नत भी बोलीं। उनकी बेटी इति श्री का कहना है कि यह बेहद खुशी और अप्रत्याशित है।

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय | Draupadi Murmu Biography in Hindi

राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले मतदान में एनडीए के तरफ से द्रौपदी मुर्मू का नाम चयन किया गया है। द्रौपदी मुर्मू का जन्म उड़ीसा के मयूरभंज जिले के रायरंग बैदापोशी में 20 जून 1958 को एक आदिवासी परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम बिरंचि नारायण टुडू था। वे अपने समुदाय के मुखिया थे। वे संथाल समुदाय से संबंध रखती हैं। उनकी उम्र 64 वर्ष है।

द्रौपदी मुर्मू की शिक्षा

द्रौपदी मुर्मू ने अपने शुरुआती शिक्षा अपने गांव से पूरी की हैं। वे अपने समय की एक मेधावी छात्रा थी और अपने वर्ग का मॉनीटरिंग भी करती थी। उसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर के रमा देवी महिला विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। उन्होंने अपना करियर एक शिक्षक के तौर पर शुरू की थी।

द्रौपदी मुर्मू का परिवार

द्रौपदी मुर्मू का विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ था। उनके दो बेटे और एक बेटी हुई। बेटी का नाम इतिश्री है। उनके दोनों बेटे और पति का देहांत हो चुका है। उनके ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा मगर उन्होंने हिम्मत दिखाई और अपनी बेटी की परवरिश के लिए एक शिक्षक के पद पर कार्य करने लगी। बाद में उन्होंने सिंचाई और बिजली विभाग में भी जूनियर असिस्टेंट के रूप में काम किया। बेटी की शादी हो चुकी है तथा उनकी एक बेटी है।

राजनीतिक करियर

द्रोपदी मुर्मू ने अपना राजनीतिक कैरियर की शुरुआत उड़ीसा में भाजपा पार्टी की सदस्यता से की। वे 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत के पार्षद चुनाव में हिस्सा लेकर अपनी जीत पर मुहर लगा दी। इसके बाद भाजपा ने उन्हें अनुसूचित जनजाति मोर्चा का उपाध्यक्ष बना दिया। इस पद पर वे 2006 से 2009 तक रहीं।

द्रोपदी मुर्मू बीजेपी के टिकट पर रायरंगपुर सीट से विधायक चुनी गई थीं। वह उड़ीसा सरकार में मंत्री भी रह चुकी हैं। 19 मई 2015 से 2021 तक वे राज्यपाल के पद पर रह कर अपनी सेवा प्रदान की है। राष्ट्रपति पद के लिए उनके नाम की घोषणा के बाद उड़ीसा में गर्व का माहौल है।

पुरस्कार

वर्ष 2007 में उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए नीलकंठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

सम्मान

  • उन्हें झारखंड की पहली महिला आदिवासी राज्यपाल बनने का खिताब प्राप्त है।
  • वे किसी भी भारतीय राज्य की राज्यपाल बनने वाली पहली आदिवासी महिला है।

इनकी भी जीवनी पढ़ें-

हमें फेसबुक पर फॉलो करें।

FAQ:

Q. द्रौपदी मुर्मू कौन है?

Ans: NDA द्वारा घोषित भारत के अगले राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार।

Q. द्रौपदी मुर्मू का जन्म कब हुआ था और कहां?

Ans: द्रौपदी मुर्मू का जन्म 20 जून 1958 मे उड़ीसा के मयूरभंज जिले मे हुआ था।

Q. झारखंड की पहली महिला राज्यपाल कौन है?

Ans: द्रौपदी मुर्मू

Q. द्रौपदी मुर्मू के पति का नाम क्या है?

Ans: श्याम चरण मुर्मू

Q. द्रौपदी मुर्मू के पिता का नाम क्या है?

Ans: बिरंचि नारायण टुडू

Q. द्रौपदी मुरमू किस समुदाय से ताल्लुक रखती हैं?

Ans: आदिवासी संथाल समुदाय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here