Neeraj Chopra Biography in Hindi | नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

0
238

Neeraj Chopra Biography in Hindi नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय: [neeraj chopra wikipedia, neeraj chopra family, neeraj chopra cast name, नीरज चोपड़ा तस्वीरें, neeraj chopra height, neeraj chopra wife photo, नीरज चोपड़ा के कोच का नाम]

Table of Contents

Neeraj Chopra Biography in Hindi (नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय)

नामनीरज चोपड़ा
जन्म तिथि24 दिसंबर, 1997
जन्म स्थानगांव खांद्रा, पानीपत, हरियाणा
उम्र23 साल
कद5'.10"
मातासरोज देवी
पितासतीश कुमार
बहन2
शिक्षास्नातक
शौकसंगीत सुनना,बाइक चलना
कोचउवे होन
संपूर्ण विश्व में रैंकिंग4
पेशाजैवलिन थ्रो

एथलीट की दुनिया में अपना परचम लहराने वाले भारतीय नीरज चोपड़ा एक भाला फेंक (जेवलिन थ्रो) खिलाड़ी है। टोक्यो ओलंपिक 2021 में नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर भाला फेंक कर उन्होंने शीर्ष स्थान प्राप्त किया था। वे पहले भारतीय हैं, जो ओलंपिक ट्रैक एवं फील्ड में स्वर्ण पदक प्राप्त किए हैं। उन्होंने अपने देश भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतकर पूरे देश में खुशियां बिखेर दिया है।

Neeraj Chopra Biography in Hindi
Neeraj Chopra Biography in Hindi

उन्होंने अपने आप में एक इतिहास रच दिया है। भाला फेंक में भारत 121 वर्ष बाद पहली बार स्वर्ण पदक प्राप्त किया है। नीरज चोपड़ा 23 वर्ष की आयु में भावी एथलीटों, खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा स्रोत बन चुके हैं। एथलीट निशानेबाज अभिनव बिंद्रा के बाद वे दूसरे भारतीय हैं, जो ओलंपिक में भारत के लिए स्वर्ण पदक प्राप्त किए हैं।

नीरज ने वर्ष 2016 में पोलैंड में आयोजित आई ए ए एफ वर्ल्ड अंडर 20 चैंपियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेंक कर भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता। जिसके कारण आर्मी ने उन्हें राजपूताना राइफल्स में सूबेदार के पद पर ऑफिसर नियुक्त किया है। आर्मी में नौकरी मिलने पर वे काफी खुश हुए। अपनी खुशी का इजहार करते हुए कहा कि वे अपने परिवार के पहले सदस्य हैं जो सरकारी नौकरी करने जा रहे हैं। इससे मैं अपने परिवार की आर्थिक सहायता करने के साथ-साथ अपनी ट्रेनिंग भी जारी रखूंगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने घोषणा की है कि उनके पैतृक गांव में ओलंपिक विजेता नीरज चोपड़ा के नाम पर स्टेडियम बनाया जाएगा। नीरज चोपड़ा को अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भारत सरकार द्वारा अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

पारिवारिक जीवन

नीरज चोपड़ा का जन्म 24 दिसंबर 1997 को हरियाणा राज्य के पानीपत शहर के छोटे से गांव खांद्रा में हुआ था। उनका जन्म एक संयुक्त किसान परिवार में हुआ था। उनके पिताजी का नाम सतीश कुमार है जो एक किसान है। उनकी माता जी का नाम सरोज देवी है और वह एक गृहिणी है। वे अपने पांच भाई-बहनों में सबसे बड़े हैं। उनके दो बहने भी हैं। उनका पुकारू नाम निज्जू है।

नीरज चोपड़ा बचपन में काफी मोटे थे। उनका मोटापा ही उनकी सफलता के मार्ग को प्रशस्त कर दिया। अधिक मोटे होने के कारण गांव के बच्चे उन्हें चिढ़ाया करते थे। उनका मोटापा उनके परिवार के लिए चिंता का कारण बन गया था। 11 वर्ष की उम्र में उनके चाचा उन्हें स्टेडियम ले जाने लगे। ताकि वे वहां दौड़ लगा सके। स्टेडियम जाने पर वे वहाँ दूसरे खिलाड़ियों को भाला फेंकते देखते थे। नीरज चोपड़ा उनकी ओर आकर्षित होते चले गए। वे हरियाणा के सीनियर भाला फेंक खिलाड़ी जयवीर को अभ्यास करते देते थे। नीरज चोपड़ा उनकी आज्ञा से भाला फेंकना शुरू कर दिए।

शिक्षा

नीरज चोपड़ा अपनी प्रारंभिक शिक्षा पानीपत से की है। प्रारंभिक शिक्षा को पूरा करने के बाद में नीरज चोपड़ा ने चंडीगढ़ में बीबीए कॉलेज से नामांकन कराया। यही से उन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त की।

नीरज चोपड़ा के प्रशिक्षक (कोच)

नीरज चोपड़ा के प्रशिक्षक का नाम उवे हॉन है। जो जर्मनी देश के पेशेवर जैवलिन थ्रो एथलीट रह चुके हैं। नीरज चोपड़ा ने उवे हॉन से प्रशिक्षण लेने के बाद ही इतना अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। नीरज चोपड़ा का ओलंपिक में गोल्ड मेडल हासिल करने के कारण उनके कोच के गांव में भी जश्न मनाया गया।

नीरज चोपड़ा का करियर

नीरज चोपड़ा मात्र 11 वर्ष की आयु से ही भाला फेंकने में अपने दिलचस्पी दिखाने लगे थे। जो आगे चलकर वह उनका कैरियर बन गया। पढ़ाई के साथ-साथ वे भाला फेंकने की भी प्रशिक्षण लेने लगे। पढ़ाई के साथ-साथ उन्होंने नेशनल स्तर पर भी खेलना शुरू कर दिया। मेहनत और लगन के कारण वे नेशनल स्तर पर कई मेडल भी जीते हैं।

नीरज चोपड़ा ने 2016 में पोलैंड में हुए आईएएएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेंक कर गोल्ड मेडल जीता। इंटरनेशनल स्तर पर अपने बेहतर काबिलियत के कारण आर्मी ने उन्हें राजपूताना रेजीमेंड में जूनियर कमीशंड ऑफिसर के तौर पर सूबेदार के पद पर नियुक्त किया। तब उनकी उम्र मात्र 19 वर्ष की थी। राजपूताना राइफल्स चलाने वाले इतने कम उम्र के ऑफिसर है। अपने बेहतरीन प्रदर्शन के कारण सेना द्वारा विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किए जा चुके हैं।

यें भी पढ़ें –

Education Loan

नीरज चोपड़ा का रिकॉर्ड

  • पोलैंड में वर्ष 2016 में आयोजित आईएएएफ अंडर 20 चैंपियनशिप में 86.48 मीटर का जूनियर वर्ल्ड रिकॉर्ड भाला फेंक में बनाया।
  • वर्ष 2016 में ही उन्होंने दक्षिण एशियाई खेलों में भाला फेंक कर गोल्ड मेडल प्राप्त किया।
  • वर्ष 2017 में वे एशियाई चैंपियनशिप भुवनेश्वर मे अपने नाम स्वर्ण पदक प्राप्त किया।
  • नीरज चोपड़ा आई ए ए एफ डायमंड लीग में सातवें स्थान पर आए।
  • वर्ष 2018 में गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में 86.45 मीटर भाला फेंककर गोल्ड मेडल हासिल किया।
  • वर्ष 2018 में ही जकार्ता एशियन गेम में 88.06 मीटर भाला फेंक कर भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता।
  • भाला फेंक (जैवलिन थ्रो) में वे एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले पहले भारतीय हैं।
  • वर्ष 2021 में 7 अगस्त को टोक्यो ओलंपिक में 87.58 मीटर दूर भाला फेंक कर शीर्ष स्थान प्राप्त कर वे भारत के लिए गोल्ड मेडल जीते। ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर उन्होंने अपने देश भारत का नाम रोशन कर दिया।
  • जून 2022 में नीरज चोपड़ा ने फिनलैंड में पावो नुरमी गेम्स में अपना ही नेशनल रिकॉर्ड तोड़ा। उन्होंने 89.30 मीटर दूर भाला फेंक कर अपने ओलंपिक का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया।
  • जून 2022 में ही फिनलैंड में चल रहे कुओर्ताने गेम्स में 86.69 मीटर दूर भाला फेंक कर नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता।
  • नीरज चोपड़ा का विश्व स्तर पर जैवलिन थ्रो में चौथा स्थान प्राप्त है।
  • भारत में जैवलिन थ्रो के इतिहास में नीरज चोपड़ा ने पहला तथा नया कीर्तिमान स्थापित किया है।

इनकी भी जीवनी पढ़ें-

हमें फेसबुक पर फॉलो करें।

होम पेजयहाँ क्लिक करें

FAQ – Neeraj Chopra Biography in Hindi

नीरज चोपड़ा कौन है ?

भारतीय एथलीट भाला फेंक खिलाड़ी

नीरज चोपड़ा का जन्म कब हुआ था ?

24 दिसंबर, 1997

नीरज चोपड़ा की उम्र कितनी है ?

23 साल

नीरज चोपड़ा की हाइट कितनी है ?

5 फुट 10 इंच

नीरज चोपड़ा का पिता का क्या नाम हैं?

सतीश कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here